आउटरीच

निस्टैड्स पब्लिक आउटरीच प्रोग्राम (एनपीओपी)

 

एकीकृत आउटरीच मानव संसाधन विकास कार्यक्रम: विज्ञान और प्रौद्योगिकी की नीति निर्माण कौशल में वृद्धि 

 

सीएसआईआर-निस्टैड्स में टेक्नोलॉजी-सामाजिक-आर्थिक विकास पहल में अनेक स्टेकहोल्डरों के विचारों और उनकी आउटपुट के माध्यम से राष्ट्रीय महत्व के विविध विषयों पर चर्चा करने और विज्ञान और प्रौद्योगिकी नीति संबंधी मानव संसाधन विकसित करने के लिए एक एकीकृत आउटरीच मानव संसाधन विकास कार्यक्रम शुरू किया गया है । किंतु, सामाजिक-अर्थशास्त्र के साथ  एकीकृत संगत प्रौद्योगिकियों की गहन जानकारी के लिए उपयुक्त विज्ञान और प्रौद्योगिकी मूल्यांकन तथा मापन अपेक्षित है । इसकी मूल अप्रोच समीक्षात्मक क्षेत्रों जैसे जल, ऊर्जा, स्वास्थ्य, सामाजिक एवं स्ट्रेटैजिक अनुप्रयोगों में नीतिगत चर्चाओं, संगोष्ठियों, कार्यशालाओं, प्रशिक्षणों और कौशल विकास के माध्यम से प्राप्त जानकारी को व्यवस्थित करना, संकलित करना एवंं नीति दस्तावेज तैयार करना होगी। नीति निर्माण एवं नीति एडवोकेसी में एक सक्रिय और समेकित पब्लिक चर्चा महत्वपूर्ण योगदान कर सकती है । 

      निस्टैड्स पब्लिक आउटरीच प्रोग्राम के अंतर्गत अनेक गतिविधिया शुरू की गई हैं: 

  • वितर्क: वितर्क का प्रारंभिक उद्देश्य जानकार एवं प्रतिभागी के रूप में खुले वातावरण में चर्चा के माध्यम से विशेष रूप से विज्ञान और प्रौद्योगिकी हस्तक्षेप के द्वारा प्रौद्योगिकी-सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन के लिए नीतिगत चर्चा में पब्लिक की भागीदारी सुनिश्चित करना ।
  • टेक्नो-दूरदृष्टि: टेक्नो-दूरदृष्टि का प्रारंभिक उद्देश्य विज्ञान और प्रौद्योगिकी के दूरवर्ती क्षेत्रों, किंतु उच्च सामाजिक-आर्थिेक पक्ष रखने वाले क्षेत्रों की संकल्पनाओं एवं उत्पादों पर एक्सपोजर चर्चाओं का आयोजन करना है। इस दूरदृष्टि का मूल उद्देश्य नवीन संकल्पना एवं अन्वेषणों की सामाजिक-आर्थिक परिवर्तनीय क्षमताओं की जानकारी तैयार करना ।

  • जिज्ञासा: यह सीएसआईआर और केंद्रीय विद्यालय संगठन की संयुक्त पहल है । इसका उद्देश्य सीएसआईआर की प्रयोगशालाओं/ संस्थानों को विद्यालयी छात्रों/ छात्राओं के साथ जोड़ना है ताकि युवाओं में एक 'वैज्ञानिक सोच' को विकसित किया जा सके । इस कार्यक्रम में छात्रों/ छात्राओं की क्षमताओं को प्रोत्साहित किया जाता है कि वे वैज्ञानिक विधियों को अपनाएं जिसमें पूछताछ, भौतिक वास्तविकता का अवलोकन, परिकल्पना की जांच करना, विश्लेषण करना एवं संप्रेषण शामिल हैं । 

     

जिज्ञासा कार्यक्रम 

18 अप्रैल, 2018 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

29 मई, 2018 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

01 अगस्त, 2018 की संक्षिप्त रिपोर्ट 
 
31 अगस्त, 2018 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

18 सितंबर, 2018 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

31 जनवरी, 2019 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

02 जुलाई, 2019 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

02 अगस्त, 2019 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

27 अगस्त, 2019 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

18 नवंबर, 2019 की संक्षिप्त रिपोर्ट 

सीएसआईआर-निस्टैड्स के जिज्ञासा कार्यक्रम का फीडबैक सार 

18 जून, 2020 को आयोजित नटराज वेबिनार की रिपोर्ट